‘तांडव’ के निर्माता, निर्देशक, राइटर और अमेजन के अफसरों से UP पुलिस करेंगे पूछताछ

0
52

अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज हुई ‘तांडव’ वेब सीरीज के खिलाफ लखनऊ में दर्ज FIR के बाद हजरतगंज पुलिस स्टेशन की एक टीम मुंबई पहुंच गई है। वे आज वेब सीरीज के राइटर, निर्माता, निर्देशक और अमेजन इंडिया के ओरिजिनल कंटेंट हेड से पूछताछ कर सकते हैं। इस टीम को लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली में तैनात इंस्पेक्टर अनिल सिंह लीड कर रहे हैं। वेब सीरीज बनाने और धार्मिक भावनाओं को आहत करने के पीछे अन्य लोगों की भूमिका भी सामने आ रही है। पुलिस उन लोगों के नाम उजागर करेगी। इस बीच मुंबई के अमेजन ऑफिस के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है।

पुलिस कर सकती है कार्रवाई

पुलिस वेब सीरीज तांडव के निर्देशक अली अब्बास, प्रोड्यूसर हिमांशु कृष्ण मेहरा, लेखक गौरव सोलंकी और हेड इंडिया ओरिजिनल कंटेंट अमेजन के अपर्णा पुरोहित के ठिकानों पर जाएगी। आरोपितों से उनके अन्य सहयोगियों के बारे में जानकारी की जाएगी। माना जा रहा है कि जिन लोगों ने धार्मिक भावनाओं को भड़काने के दृश्य में काम किया है, उनके खिलाफ भी पुलिस कार्रवाई कर सकती है।

कानून के हिसाब से होगी कार्रवाई: अनिल देशमुख

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने बुधवार को कहा-हमें वेब श्रृंखला ‘तांडव’ के बारे में शिकायत मिली है, कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी। ओटीटी (ओवर-द-टॉप) प्लेटफार्मों के संबंध में केंद्र सरकार को कानून लाना चाहिए।

निर्देशक ने मांगी माफी

वेब सीरीज तांडव पर चल रहे विवाद के बीच इसके डायरेक्टर अली अब्बास जफर ने सोमवार को सोशल मीडिया पर माफी मांगी है। कास्ट और क्रू की ओर से जारी स्टेटमेंट में कहा गया है कि हम अपने व्यूअर्स के रिएक्शन पर नजर बनाए हुए हैं। यह पूरी तरह काल्पनिक कहानी है। हमारी टीम के किसी मेंबर का मकसद लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाना नहीं था।

योगी के मीडिया सलाहकार बोले- आरोपी गिरफ्तार किए जाएंगे

FIR दर्ज होने के तुरंत बाद बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने आरोपियों को चेतावनी दी। उन्होंने सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा- जन भावनाओं से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जल्दी ही ‘तांडव’ विवाद से जुड़े आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

जातियों में घृणा फैलाने का आरोप

आरोप है कि वेब सीरीज में जातियों को छोटा बड़ा दिखाकर उनमें विभाजन करने की कोशिश की गई है। यही नहीं महिलाओं को अपमानित करने वाले दृश्य भी हैं। इसके अलावा प्रधानमंत्री जैसे गरिमामय पद को ग्रहण करने वाले व्यक्ति का चित्रण भी बेहद अशोभनीय ढंग से किया गया है। आरोप है कि वेब सीरीज शासकीय व्यवस्था को भी क्षति पहुंचा रहा है।

रविवार देर रात दर्ज हुई थी FIR

हजरतगंज कोतवाली के वरिष्ठ उपनिरीक्षक अमरनाथ यादव ने रविवार देर रात इस संबंध में FIR दर्ज कराई थी। सोशल मीडिया पर भी तरह तरह की चर्चा हो रही है, जिससे शांति व्यवस्था प्रभावित होने की आशंका है। पुलिस ने जब वेब सीरीज देखा तो पता चला कि पहले ऐपिसोड के 22 वें मिनट धार्मिक भावनाओं को आहत करने का काम आरोपितों की ओर से किया गया है। यही नहीं निम्न स्तर की भाषा का इस्तेमाल भी हुआ है।

राम कदम ने पुलिस स्टेशन के बाहर की भूख हड़ताल
इस बीच तांडव के खिलाफ लगातार विवाद बढ़ता जा रहा है। मंगलवार को भाजपा नेता राम कदम अपने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर घाटकोपर पुलिस थाने के सामने भूख हड़ताल पर बैठ गए थे। उन्होंने यह हड़ताल मुंबई पुलिस द्वारा FIR दर्ज न करने की वजह से शुरू की थी। राम कदम का आरोप है कि तीन दिन से मुंबई पुलिस वेब सीरीज तांडव के खिलाफ FIR दर्ज करने को कहा जा रहा है, लेकिन पुलिस महाराष्ट्र सरकार के दबाव में आकर FIR दर्ज नहीं कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here